IRDA Full Form (इरडा) – आईआरडीए क्या है?

IRDA full form और आईआरडीए क्या होता है हिंदी और इंग्लिश में इसका पूरा नाम क्या है? पहले आप ये जान ले कि कुछ लोग IRDA का हिंदी शॉर्टकट इरडा से जानते हैं। आज इस लेख में हम IRDA की चर्चा करेंगे और आपको बताएँगे कि इसका मतलब क्या होता है और हिंदी में इसका full form और English में इसका complete नाम क्या है।

इसी के साथ इस लेख में आप जानेंगे कि की आईआरडीए की स्थापना कब हुई और IRDA संस्था का कार्य क्या होता है, और इसका headquarters अर्थात मुख्यालय कहाँ पर स्थित है। साथ ही आप जानेंगे कि ये किस सेक्टर की संस्था है और इसके मौजूदा चेयरमैन कौन हैं।

भारत में बहुत से सरकारी संस्था हैं और उन्हीं में से एक है IRDA और जैसा इसका नाम है वैसा ही इसका कार्य है। IRDA का कार्य सिर्फ एक ही क्षेत्र के लिए बना है और इसके होने मात्र से हमारे पैसे सुरक्षित हो जाते हैं। आपको ये सुन कर ऐसा लग रहा होगा कि क्या ये बैंकिंग जगत के लिए बनाई गयी कोई संस्था है।

अगर आपके मन में ये संदेह है तो बस ये अब दूर होने वाला है तो चलिए जानते हैं IRDA का full form in Hindi और English में।

IRDA Full Form

IRDA Full Form

IRDA का full form चार शब्दों से मिलकर बना है और English में इसे ‘Insurance Regulatory and Development Authority‘ कहते हैं। दूसरी ओर हिंदी में इसका full form बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण होता है। ये तो रही बात आईआरडीए के फुल फॉर्म की अब चलिए जानते हैं इरडा क्या है।

आईआरडीए क्या है

सीधे शब्दों में कहें तो आईआरडीए भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली एक संस्था है जो भारत में मौजूद बीमा कंपनियों को नियंत्रित व निरीक्षण करने का कार्य करती है। IRDA संस्था बीमाधारकों व्यक्तियों के हितों की सुरक्षा हो यह भी सुनिश्चित करने का कार्य करती है।

इस प्रकार से लोगों में बीमा के प्रति रूचि बढ़ता है जिससे भारत में बीमा और उनकी कंपनियों का विकास होता है और लोगों के जीवन की सुरक्षा भी होती है। इसके अतिरिक्त आईआरडीए दोनों ही जीवन और सामान्य बीमा को विनियमित करने का कार्य करती है।

IRDA का कार्य

IRDA का क्या काम होता है इसे हम बिंदुवार जानेंगे। Insurance Regulatory and Development Authority के अधिनियम 1999 की धारा 14 के अनुसार आईआरडीए के कार्यों, शक्तियों और कर्तव्यों को निर्धारित किया जाता है। IRDA के निम्नलिखित कार्य होते हैं।

  • बीमाकर्ता (बीमा कंपनी) का पंजीकरण व विनियमित करना
  • पॉलिसीधारक व्यक्तियों के हितों की सुरक्षा सुनिश्चित करना
  • बीमा एजेंटो के लिए लाइसेंस स्थापित करना
  • बीमा एजेंटो के लिए मानदंड को स्थापित करना
  • बीमा में सक्रिय पेशेवर संगठनों को बढ़ावा देना
  • प्रीमियम रेट का विनियमन और देखरेख करना
  • गैर-जीवन बीमा कवर की शर्तों का विनियमन और निगरानी करना
  • बीमा कंपनियों के वित्तीय सम्बंधित रिपोर्टिंग मानदंड को निर्दिष्ट करने का काम करता है
  • जब पॉलिसीधारक अपने धनराशि को बीमा कंपनियों में निवेश करते हैं तो इरडा उस धन को विनियमित करने का काम करता है
  • IRDA, इन्शुरन्स कंपनियों द्वारा सॉल्वेंसी मार्जिन का सही रख रखाव हो इसे भी सुनिश्चित करने का कार्य करती है
  • ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब व पिछड़े वर्ग तक बीमा की पहुंच हो सके इसके लिए भी इरडा कार्य करता है

इसके अतिरिक्त IRDA के और भी छोटे-छोटे कार्य होते हैं और समय-समय पर इनमें परिवर्तन भी होता रहता है।

IRDA की स्थापना व इतिहास

IRDA का इतिहास कई चरणों से होता हुआ 1993 से मुख्य तौर पर देखा जाता है। भारत सरकार ने वर्ष 1993 में एक समिति का गठन किया जिसका उद्देश्य बीमा को बेहतर बनाना और उसमे सुधार लाना था। आपको बता दें की इस समिति के अध्यक्ष RBI पूर्व राज्यपाल (गवर्नर) राम नारायण मल्होत्रा जी थे।

उपरांत, वर्ष 1994 में R.N. Malhotra की इस समिति ने अपनी एक विस्तृत रिपोर्ट सरकार के समक्ष प्रस्तुत की। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि निजी कंपनियों को बीमा क्षेत्र में आने की अनुमति दी जाती है। इस प्रकार से वर्ष 1999 में IRDA की स्थापना की गयी और अप्रैल 2000 में इसका समावेशन किया गया।

IRDA Headquarters कहाँ पर है

इरडा का मुख्यालय पहले दिल्ली में हुआ करता था जिसे वर्ष 2001 में तेलंगाना राज्य के हैदराबाद शहर में स्थानांतरित कर दिया गया अब एक हेडक्वार्टर्स हैदराबाद में ही है।

IRDA के चेयरमैन कौन हैं

अभी IRDA के मौजूदा अध्यक्ष Subhash Chandra Khuntia जी हैं, जो 1981 बैच के आईएएस अफसर भी हैं और पूर्व में कर्नाटक के चीफ सेक्रेटरी भी रह चुके हैं।

संक्षिप्त में

  • ऑफिसियल वेबसाइट – irdai.gov.in
  • स्थापना – 1999
  • मुख्यालय – हैदराबाद
  • क्षेत्र – बीमा
  • प्रकार – सांविधिक निगम
  • अध्यक्ष – Subhash Chandra Khuntia

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here