Insurance Agent कैसे बने किसी भी कंपनी का? कमीशन, योग्यता और डॉक्यूमेंट

Insurance agent बनने के बहुत सारे लाभ हैं, इस लिए आज के इस लेख में हम आपको बताएँगे इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने? इसी के साथ आप जानेंगे इन्शुरन्स एजेंट कितना कमा सकते हैं अर्थात इनका कमीशन कितना मिलता है।

अगर आप किसी भी insurance कंपनी जैसे कि LIC, MAX Life, SBI Life, new India, reliance general, oriental, national insurance, united India, HDFC life, star health, iffco tokio, hdfc health इत्यादि के इन्शुरन्स एजेंट बनना चाहते हैं या किसी इन्शुरन्स ब्रोकर जैसे कि Policybazaar का एजेंट बनना चाहते हैं तो आपको इसके लिए क्या-क्या करना होगा।

कौन-कौन से डॉक्यूमेंट लगेगा और योग्यता क्या होनी चाहिए, इन सभी बातों को हिंदी में जानेंगे।

आज के इस महँगाई दौर में एक परिवार के पेट को पालने के लिए एक्स्ट्रा इनकम की जरुरत है। इस लिए जितना भी कमाई की जाये उतना कम है। इसका एक सबसे अच्छा विकल्प है पार्ट टाइम जॉब करना। अगर आप पार्ट टाइम वर्क या कोई जॉब करना चाहते हैं तो आज के इस समय में बहुत सारे विकप्ल उपलब्ध हैं और इसका सबसे अच्छा उदाहरण है इन्शुरन्स एजेंट बनना।

इन्शुरन्स एजेंट बन कर आप किसी भी व्यक्ति का लाइफ इन्शुरन्स, जनरल इन्शुरन्स आसानी से कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त और भी अन्य प्रकार के बीमा होते हैं जिसे आप लोगों को बेच कर कमीशन कमा सकते हैं।

पार्ट टाइम जॉब जैसे कि इन्शुरन्स एजेंट का कार्य करने का सबसे बड़ा फायदा तो ये होता है कि आपके समय की बचत होती है। यही वजह है कि आज लोग ऐसे पार्ट टाइम जॉब की तलाश करते है जिसमे अधिक आय अर्जित किया जा सके और समय की भी बचत हो।

पार्ट टाइम जॉब करने से समय की बचत होती है जिसकी वजह से आप अन्य कार्य को समय भी दे सकते हैं। इस प्रकार से आपको अधिक आय करने का अवसर मिल जाता है।

Insurance Agent किसे कहते हैं?

पहले तो ये जान लें कि Insurance agent का हिंदी में meaning बीमा प्रतिनिधि (बीमा एजेंट) होता है। Insurance agents वे लाइसेंस प्राप्त व्यक्ति होते हैं जो किसी बीमा कंपनी का प्रतिनिधित्व करते हैं। जो एजेंट्स होते हैं वे किसी बीमा कंपनी से जुड़ कर उन कंपनियों के बीमा पॉलिसी को लोगों को बताते है और उसकी पूरी स्कीम को समझते हैं।

इसके बाद वे एजेंट उस बीमा कंपनी के उत्पाद को बेचते हैं अर्थात लोगों का बीमा कर देते हैं। उदाहरण के लिए मान लीजिये कि आप LIC के एजेंट बनते हैं तो आपको LIC कंपनी के विभिन्न बीमा पॉलिसी को बेचना होगा।

Insurance Agent बनने के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट

किसी भी कंपनी का इन्शुरन्स एजेंट बनने के लिए मुख्य रूप से 5 या 6 प्रकार की डाक्यूमेंट्स की जरुरत होती है। उन documents में सबसे जरुरी है आपका पैन कार्ड, आधार कार्ड, ग्रामीण क्षेत्र के लिए 10 वीं पास का मार्कशीट (या 10th से ऊपर की), शहरी क्षेत्र के लिए 12th पास मार्कशीट, बैंक एकाउंट का स्टेटमेंट, पासबुक का फोटो कॉपी, एक कैंसिल चेक और दो पासपोर्ट साइज फोटो।

अगर ये सभी documents आपके पास उपलब्ध हैं तो आप बीमा एजेंट बनने की प्रक्रिया को फॉलो कर सकते हैं।

इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने किसी भी कंपनी का?

इन्शुरन्स एजेंट बनना बहुत ही आसान है इसके लिए आपकी आयु कम से कम 18 वर्ष की होनी चाहिए। इन्शुरन्स एजेंट बनने के कई सारे विधि है। सबसे आसान तरीके की बात करें तो आप ऑनलाइन किसी ऐप के माध्यम जैसे कि MintPro – Insurance Business App, PolicyBazaar इत्यादि प्लेटफार्म का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए ऊपर में बताये गए documents को आपको तैयार रखना होगा।

इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने

अगर आप सभी कंपनियों का इन्शुरन्स एजेंट बन कर बीमा करना चाहते है तो ऑनलाइन प्लेटफार्म पर किसी insurance brokers के माध्यम से agent बनना सबसे अच्छा विकल्प है। इसके लिए आपको उन ऐप को डाउनलोड करके मांगे जाने वाले डॉक्यूमेंट को अपलोड कर देना है।

डॉक्यूमेंट में ऊपर में बताये गए डाक्यूमेंट्स ही देना होगा। इस प्रकार से आपका KYC भी complete हो जायेगा। अगर मोबाइल नंबर पूछता है तो उसे दे देना होगा।

कुछ ऐप आपसे बीमा क्षेत्र में आपको कितने साल का अनुभव है ये भी पूछते हैं। इसके बाद आपको अपना ओरिजिनल नाम जो पैन कार्ड पर है उसको देना होता है और ईमेल id भी। इसके बाद आपको अपना एक क्लियर फोटो भी अपलोड करना होगा पहचान के तौर पर।

इन सभी के अतिरिक्त कुछ इन्शुरन्स एजेंट वाले app में आपका आय का स्रोत (source of income) भी पूछा जाता है, आपको सही-सही भर देना है।

इन सभी को कम्पलीट करने के बाद आपको 24 से 48 घंटे का इंतिज़ार करना होगा और जब आपका एप्लीकेशन स्वीकृत हो जाये उसके बाद आपको दो प्रमाणपत्र (certificate) प्राप्त करने होंगे। इन दोनों सर्टिफिकेट का नाम LI POSP और GI POSP है।

LI POSP और GI POSP दोनों सर्टिफिकेट को प्राप्त करने के लिए आपको ऑनलाइन उसी ऐप में परीक्षा देनी होगी। Exam देने से पहले आपको ऑनलाइन app में ही ट्रेनिंग दी जाएगी, जिसके अंतर्गत आपको कुछ वीडियो दिखाया जायेगा। कोर्स पूरा होने के 24 घंटे बाद आपसे परीक्षा ली जाएगी।

एग्जाम बहुत ही आसान होता है कुछ सरल लगभग 30 प्रश्न पूछे जाते हैं और इसके लिए आपको 2 घंटे का पर्याप्त समय मिलता है।

GI POSP या POSP GI कहें तो इसका English में full form ‘Point of Sales Person – General Insurance‘ होता है और POSP LI का फुल फॉर्म ‘Point of Sales Person – Life Insurance‘ होता है।

इसके अलावा अगर आप किसी विशिष्ट कंपनी (किसी एक कंपनी का) जैसे कि LIC, HDFC Life, Max Life, Aditya Birla, Bajaj Allianz General Insurance, ICICI LOMBARD Aviva Life, Bharti AXA Life insurance इत्यादि कंपनियों का agent बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको IRDA (IRDAI) का IC 38 exam (test) देना होगा। IC 38 Exam पास करने के बाद आपको एजेंट कोड मिलता है।

IC 38 Exam क्या है?

आसान शब्दों में बताएं तो insurance agent अर्थात बीमा एजेंट बनने के लिए आपको IRDA का एक exam देना होता है और उसी परीक्षा को IC 38 exam के नाम से भी जाना जाता है।

IC38 exam की तैयारी करना बहुत ही आसान होता है, इसके लिए आपको play store पर app मिल जाता है, जिसकी सहायता से आप ऑनलाइन तयारी कर सकते हैं।

IC 38 या IRDA का exam एक घंटे अर्थात 60 मिनट के अंदर कम्पलीट करना होता है। इस परीक्षा में कुल 50 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न 1 नंबर का होता है और किसी भी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग नहीं दी जाती।

IRDA के इस test को पास करने के लिए आप कम से कम 18 नंबर लाने होते है। इसके अलावा भी आपको 1 नंबर कृपांक (ग्रेस) के तौर पर दिया जाता है अर्थात अगर आप 17 नंबर भी ले आते हैं तो आप पास मने जायेंगे। इसके बाद आप किसी एक कंपनी जिसका आप चुनाव किये होंगे उस कंपनी का बीमा एजेंट बन जायेंगे।

एजेंट बन कर कौन-कौन सा बीमा कर सकते हैं?

बीमा एजेंट बन कर आप सभी प्रकार के बीमा पॉलिसी कर सकते है। अगर आप लाइफ इन्शुरन्स का एजेंट कोड प्राप्त करते हैं तो लाइफ इन्शुरन्स के अंतर्गत आने वाले किसी भी उत्पाद को आप बेच सकते हैं। इसके अलावा अगर आप जनरल इन्शुरन्स का एजेंट कोड प्राप्त करते हैं तो इसके अंतर्गत आने वाले सभी बीमा पॉलिसी को आप बेच सकते हैं।

  • जीवन बीमा
  • स्वास्थ्य बीमा
  • जनरल इन्शुरन्स
  • Term Insurance
  • संपूर्ण जीवन बीमा
  • मोटर बीमा
  • पेंशन प्लान
  • इत्यादि

Insurance Agent बनने के फायदे

बीमा एजेंट बनने के कई सारे लाभ है जैसे कि आप कम समय में अर्थात पार्ट जॉब करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं। इन्शुरन्स एजेंट बन कर आप अच्छा कमीशन कमा सकते हैं और आप इससे अपना परिवार पाल सकते हैं।

यह एक शून्य निवेश वाला कार्य है और इस कार्य को घर से भी करके आप अपने खुद के बॉस बन सकते हैं। अगर आप बीमा का कार्य करते हैं तो कुछ समय मेहनत करने के बाद आप एक स्थिर आय का स्रोत बना सकते हैं और इसके अलावा दूसरे कार्य भी पर्याप्त समय दे सकते हैं।

बीमा एजेंट को कितना कमीशन मिलता है?

अलग-अलग इन्शुरन्स कंपनी अपने एजेंट्स को अलग-अलग कमीशन देती हैं। कमीशन के अतिरिक्त agents के अच्छे कार्य को देखते हुए कंपनी समय-समय पर रिवॉर्ड भी देती हैं।

आपके जानकारी के लिए बता दें की आप या तो जनरल इन्शुरन्स का एजेंट कोड प्राप्त कर सकते है या फिर लाइफ इन्शुरन्स का। जनरल और लाइफ इन्शुरन्स का कमीशन अलग-अलग होता है।

General Insurance पर Agents को कितना कमीशन मिलता है?

अगर बात करें जनरल इन्शुरन्स (साधारण बीमा) की तो इसमें वाहन बीमा, स्वास्थ्य बीमा, home insurance, ट्रेवल, फसल, Animal इन्शुरन्स और व्यापार दायित्व बीमा आते हैं।

जनरल इन्शुरन्स के अंतर्गत आने वाले वाहन बीमा जैसे कि कार, मोटरसाइकिल, बस, ट्रक, ट्रैक्टर व अन्य प्रकार के वाहन का दो प्रकार का बीमा किया जाता है। पहला है first party और दूसरा है third party insurance.

First party इन्शुरन्स का जो प्रीमियम बनता है उसमे जब बीमाधारक व्यक्ति के खुद के वाहन की क्षति (OD) का इन्शुरन्स किया जाता है तो उसपर agents को अधिकतम 15% तक कमीशन मिलता है और थर्ड पार्टी के इन्शुरन्स के प्रीमियम पर 2% से लेकर 2.5% तक commission मिल जाता है।

चुकी OD सिस्टम लगभग समाप्त होने की ओर है इस लिए कंपनी अब नेट प्रीमियम (कुल प्रीमियम) का 12.5% से लेकर 20% तक देती हैं, फर्स्ट पार्टी वाहन बीमा पर।

इसके अतिरिक्त व्यक्तिगत (individual health insurance) पर 15% से लेकर अधिकतम 25% तक कमीशन मिलता है। इसके अलावा नियोक्ता कर्मचारी को समूह स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत 7.5% commission मिलता है।

इसी प्रकार से अन्य जनरल इन्शुरन्स के उत्पाद पर 10% से लेकर 15% तक कमीशन मिल जाता है।

लाइफ इन्शुरन्स पॉलिसी पर एजेंट को कितना कमीशन मिलता है?

अगर सिंगल प्रीमियम की बात करे तो एजेंट को किसी व्यक्ति का व्यक्तिगत (individual) लाइफ इन्शुरन्स करने पर 2% कमीशन मिलता है। इसके अलावा जहाँ पर शुद्ध जोखिम (pure risk) होता है जैसे कि प्रकिर्तिक आपदा में संपूर्ण क्षति, व्यक्ति की मृत्यु और इसके लिए सिंगल प्रीमियम जमा किया जाता है तो उस स्थिति में एजेंट को 7.5% कमीशन मिलता है।

इसके अतिरिक्त शुद्ध जोखिम उत्पाद (pure risk product) नियमित प्रीमियम (regular premium) जमा करने पर agents को प्रथम वर्ष के प्रीमियम पर 40% और उसके बाद आगे के वर्ष में 10% कमीशन मिलता है।

निष्कर्ष –

माध्यम से आपने जाना बीमा एजेंट बनने के लिए क्या-क्या करना होगा। इन्शुरन्स एजेंट का कोड प्राप्त करके आप किसी भी व्यक्ति का बीमा कर सकते हैं और पार्ट टाइम जॉब के रूप में आप अच्छी कमाई कर सकते हैं। अगर आप एजेंट बनाना चाहते हैं तो बस आपको 10 वीं या 12 वीं पास होना चाहिए और आधार कार्ड, पैन कार्ड के साथ आप IRDA का एग्जाम पास करके एजेंट बन सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here