Chess कैसे खेलते हैं – Game के Rules?

विश्व स्तर पर खेले जाने वाला Chess यानी कि शतरंज एक बहुत ही लोकप्रिय बोर्ड गेम है। इस ब्रेन गेम को खेलने से आपका माइंड तेज बनता है अर्थात आपकी तर्कशक्ति विकसित होती है।

अगर आप भी यह जानने आये हैं कि chess कैसे खेलतें हैं, और Chess rules in Hindi क्या है, तो आप इस लेख को पढ़कर इसे खेलना सीख लेंगे और इसके नियम भी जान जाएंगे। इसके अतिरिक्त हम इसके नियमों की पीडीऍफ़ फाइल भी देंगे जिसे आप आसानी से डाउनलोड करके प्रिंट निकाल सकते हैं।

वैसे तो एक बार में दो खिलाड़ी ही इसमें हिस्सा ले सकते हैं। खेल शुरू करने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देना आवश्यक है। साथ ही साथ chess के कुछ नियमों (rules) को भी जानना जरूरी हैं।

अगर आप नए खिलाड़ी हैं, और इस बोर्ड गेम को बिल्कुल भी खेलना नहीं जानते, तो आपको निराश होने की कोई जरुरत नहीं। इस आर्टिकल में हम आपको step by step बताएंगे कि chess कैसे खेला जाता हैं।

chess information in Hindi

Chess कैसे खेलते हैं?

गेम शुरू करने के लिए सबसे पहले चेस बोर्ड को नियमानुसार लगाए। अब अपने गोटियों का चुनाव करें। अगर सफेद लिए हैं तो सबसे पहले चाल चलते हुए अपने किसी सिपाही को एक या पहली बार मे दो कदम आगे ले जाएं। अब अपने प्रद्वन्दी की चाल का इंतजार करिए। इस प्रकार से चेस खेलने की शुरुआत होती है।

अभी ऑनलाइन चेस खेलें

बिना देर किये अभी ऑनलाइन चेस खेलना शुरू करें, नीचे के इस ‘Play’ बटन को दबाएँ और गेम स्टार्ट हो जायेगा और आप गेम का आनंद ले सकते हैं और इसी के साथ आपकी चैस खेलने की प्रैक्टिस भी हो जाएगी।

स्टार्ट बटन पर क्लिक करने के बाद आप डिफीकल्टी का लेवल अर्थात जितना कठिन खेलना है उतना ज्यादा स्टार पर क्लिक करें। अगर आसान लेवल अर्थात कम कठिनाई वाला गेम खेलना है तो 1 स्टार पर क्लिक कर सकते है, ये खेल रोबोट अर्थात कंप्यूटर के साथ होगा।

दूसरी ओर यदि आप अपने मित्र के साथ खेलना चाहते हैं तो ‘2 Players’ वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

अन्य वेबसाइट निम्नलिखित है

SparkChess

SparkChess एक online chess खेलने की वेबसाइट है। इसपर जाकर आप आसानी से इस गेम को प्ले कर सकते हैं। sparkchess.com पर जाकर आप chess की practice करने के साथ साथ challenge गेम को multiplayer mode में खेल सकते है इसके लिए आपको एक्सपर्ट होना पड़ेगा।

ChessTempo

Chesstempo भी ऐसी ही एक वेबसाइट है, इसपर आप live chess को देख और खेल भी सकते हैं। अगर आप अपना रिकॉर्ड बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको Chesstempo.com पर रजिस्टर्ड करके मेंबर होना होगा।

Android मोबाइल में कैसे खेले चैस?

आज के दौर मे लगभग सब कुछ ऑनलाइन हो चुका है। हो सकता है कि आपके पास भी समय का अभाव हो, फिर भी आप खेल का मजा ले सकते हैं।

इसके लिए आप गूगल प्ले स्टोर से ‘Chess – Clash Of Kings’ एंड्राइड एप्प को डाउनलोड करके इंस्टॉल कर सकते हैं और चलते फिरते चेस खेलना सीख सकते हैं।

कंप्यूटर में खेलने का तरीका

डेस्कटॉप या लेपटॉप में चेस खेलना बहुत ही आसान है। अगर आपके PC में विंडोज 7 इनस्टॉल है तो उसमे Chess Titans नाम से यह गेम मौजूद होगा। इसे खोल कर आप खेल शुरू कर सकते हैं।

लेकिन इसके लिए आपको अभ्यास की जरुरत पड़ेगी क्योंकि computer vs human बहुत ही हार्ड होता है। लेकिन अगर आप थोड़ा आहूत खेलना सीख गए हैं तो आप Chess Titans में easy लेवल को सेलेक्ट करके खेल को आजमा सकते हैं।

लेकिन chess खेल को शुरू करें उससे पहले आपको बोर्ड को सही से लगाना सीखना होगा। सारी गोटियों के चलने के तरीकों और गेम के कुछ रूल है उन्हें भी जानना होगा जिन्हें हम नीचे में बता रहे हैं।

शतरंज के नियम हिंदी में

चेस के क्या rules है, अगर आप इनको हिंदी में जानना चाहते हैं, तो नीचे के बिंदुओं को पढ़कर आप इसके नियम को जानिए।

  1. राजा उन खानों में नही जा सकता जिसमे जाने पर उसे प्रतिद्वंदी खिलाड़ी के गोटियों से शह मिल रहा हो।
  2. अगर आपका सिपाही दूसरे खिलाड़ी के घर के सबसे अंतिम खाने (प्रथम) में अपने को बचाते हुए पहुच जाता है, तो आप अपने किसी भी मरे हुए मोहरे को जीवित कर सकते हैं।
  3. विरोधी खिलाड़ी के किसी भी गोटी को आपका सिपाही सीधा नही मार सकता और ना ही उसे पीछे हटाया जा सकता है।
  4. घोड़ा हमेशा ढाई कदम चलेगा।
  5. हाथी सीधा किसी भी पंक्ति में चल सकता है, जहाँ तक खाली पंक्ति होगी।
  6. ऊँट तिरछी पंक्ति में चलेगा।
  7. वज़ीर किसी भी पंक्ति में चल सकता है और प्रतिद्वंदी के गोटियों को मार सकता है.
  8. राजा किसी एक खाने में ही चलता है.

इस गेम को कुछ भागों में विभाजित किया गया है, उन्ही की चर्चा हम आगे के शीर्षक में एक-एक करके जानेंगे।

बोर्ड की कुछ खास बातें

बोर्ड को तैयार करें उससे पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों को जानना जरुरी हैं जैसा कि हमने आपको ऊपर बता दिया है कि, यह दो लोगों का खेल है। इसी को देखते हुए बोर्ड में दो अलग-अलग रंगो का इस्तमाल किया जाता है।

देखिए बोर्ड में रंगों का मेल कैसा भी हो सकता है, जैसे कि हरा-सफेद, ब्राउन-वाइट इत्यादि। लेकिन अधिकतर चेस बोर्ड को काले-सफेद खानों में प्रदर्शित किया जाता हैं।

चौकोर खानों की कुल संख्या 64 होती हैं जिसमें से 32 सफेद वर्ग बाकी दूसरे कलर के स्क्वायर बॉक्स होते हैं। शतरंज के बोर्ड में 3 प्रकार की पंक्तियाँ (लाइन) होती हैं।

इनमें से आठ हॉरिजेंटल और वर्टीकल लाइन बनाई गई है। तीसरी लाइन को डायगोनल बोलते हैं जिसे हिंदी में विकर्ण अर्थात तिरछी लाइन कहते हैं।

वर्टिकल (खड़ी) लाइन

यह बहुत ही महत्वपूर्ण लाइन है, इसी पर चलते हुए सभी मोहरे opponent के घर कि ओर बढ़ते हैं। बीच मे अपने विरोधी खिलाड़ी के मोहरो को मारते भी हैं। चैस वर्ल्ड में इस लाइन को फाइल्स कहा जाता है।

Horizontal क्षैतिज lines

Chess की दुनिया में इस horizontal लाइन को ranks के नाम से जाना जाता है और यह पंक्तियां काफी महत्व रखती हैं। इसी लाइन की मदद से मोहरे किसी भी दिशा में चाल कर सकते हैं और वे अपने बचाव के लिए इसका इस्तेमाल भी करते हैं।

Diagonal lines

Diagonal एक ख़ास प्रकार की लाइन होती है और इसमें कुछ विशेष मोहरे अपनी चाल चलने के लिए स्वतंत्र होते हैं, जैसे कि वज़ीर (मंत्री), ऊंट और प्यादा।

हालांकि वजीर और भी दूसरी दिशाओं में चल सकता हैं। इसके अलावा सिपाही diagonal चलते हुए प्रतिद्वंदी के किसी भी मोहरे को मार सकता हैं।

मोहरो की कुल संख्या

मोहरो की कुल संख्या 16 होती है। जिसमें से 1 राजा, 2 ऊँट, एक वजीर, दो घोड़े, 2 हाथी और 8 सिपाही होते हैं।

शतरंज के बोर्ड को कैसे लगाएं?

बोर्ड को तैयार करने के लिए प्रथम पंक्ति से शुरू करते हुए, कोने के अंतिम खाने (स्क्वायर बॉक्स) एक left और दूसरा right मतलब A1 और H1 में दोनों हाथियों को बिठाते हैं।

chess board in Hindi

ठीक इनके बगल में प्रथम हॉरिजॉन्टल लाइन के B1 और G1 के दूसरे वाले बॉक्स में दोनों घोड़ों को लगाते हैं। तीसरे वर्ग यानी कि C1 और F1 में ऊंट को दोनों ओर से रखते हैं।

बाई ओर से ऊँट के बगल के D1 में वज़ीर को रखा जाता है। इसी के साथ दाहिनी ओर से E1 में राजा का स्थान होता है।

ध्यान देने वाली बात यह है, कि यदि आपने खिलाड़ी के रूप में white मोहरों का चुनाव किया हैं, तो आपका राजा ब्लैक वाले बॉक्स में लगेगा। इस प्रकार से शतरंज बोर्ड को लगाते हैं, आसानी से समझने के लिए ऊपर वाली फोटो को ध्यान से देखिये।

चेस बोर्ड में सिपाहियों को कहाँ रखते हैं?

‘Chess कैसे खेलते हैं’, इसको बताते हुए मुझे एक बात अचानक से याद आ गयी। दरअसल सिपाही को Indian Chess कि भाषा में प्यादा भी कहते हैं और इनका स्थान दूसरे वाले हॉरिजॉन्टल लाइन में आता है।

मस्तानी हाथी की चाल

पहले हम यह जानेंगे की चेस में हाथी अपनी चाल कैसे चलता है? वैसे तो जंगल का राजा शेर होता है। परंतु अगर हाथी उसके सामने आकर खड़ा हो जाए तो उसकी भी हालत पतली हो जाती हैं।

ठीक उसी प्रकार से शतरंज में हाथी किसी भी सीधी लाइन में चल सकता है, और अपने सामने पड़ने वाले विरोधी खिलाड़ी के किसी भी गोटी को मार सकता है। जहाँ तक पंक्ति खाली होगी वहां तक हाथी जायेगा।

Chess में घोड़ा कैसे चलता है?

आपने लंगड़े घोड़े की कहावत तो सुनी होगी, जी हां चेस का घोड़ा भी कुछ लंगड़े की चाल चलता है। इसको सुनकर आपको अपना सर खुजलाने की जरुरत नहीं। हम इस लाइन को यहीं साफ कर देते हैं। चेस का घोड़ा हमेशा ढाई कदम किसी भी बॉक्स में मूव करता है।

उदहारण

यह चाल अंग्रेजी के कैपिटल लेटर L, की तरह होता है। परंतु एल उल्टा – सीधा, लेफ्ट और राइट (¬, Γ, ⌋) कैसा भी हो सकता है। जैसे —-> 1 खाना, फिर दूसरा खाना उसके बाद, दूसरे वाले के बगल के किसी भी वर्ग में फाइनल मूव।

परंतु घोड़ा तभी बगल में बैठेगा जब दाहिना और बायां वाला वर्ग खाली होगा और अगर उसमे विरोधी का कोई भी गोटी होगा तो उसे घोड़ा मार भी सकता है।

ऊँट कैसे चाल करेगा?

ऊँट जैसा दिखने में टेढ़ा होता है उसी तरह उसकी चलने की स्टाइल भी होती है। मतलब यह हुआ कि शतरंज में ऊँट हमेशा तिरछी लाइन में चलता है।

शतरंज का वजीर कैसे मूव करता है

शतरंज के वजीर को राजा की रानी भी कहा जाता है और कहीं-कहीं सेनापति भी बोलते हैं। खेल के नियम को बनाने वालों ने वजीर को किसी भी दिशा में चलने का अधिकार दे रखा हैं।

रानी होने के बावजूद इस चेसमैन को हम इस खेल में कभी भी स्त्री के रूप में नहीं देखते। गेम का यह सबसे पावरफुल मोहरा माना जाता है। इस लिए बड़े से बड़े खिलाडी इसको मरने से बचा के रखते हैं। क्योंकि अंत में ये अपना पूरा ताकत दिखाता है।

राजा की चाल

अगर आप नही जानते तो आपको बता दे कि शतरंज में सारा खेल राजा को लेकर होता है। Chess गेम में राजा को check and mate होने से बचाया जाता है। वैसे राजा किसी भी एक खाने में चल सकता है।

शूरवीर सिपाहियों का उपयोग

जी हाँ, इन शूरवीर सिपाहियों को छोटा व कमजोर समझने की गलती मत करियेगा। ये बहुत ताकतवर भी होते हैं, क्योंकि ये बड़े से बड़े चेसमैन को मारने की क्षमता रखते हैं।

अगर चाल चलने की बात की जाए तो ये पहली बार में दो खाने या एक स्टेप आगे चल सकते हैं। और अगर एक बार चल देते हैं तो दूसरी बार में ये सिर्फ सिंगल स्टेप ही चलेंगे। इसके बाद मारने के लिए तिरछी लाइन का प्रयोग करेंगे।

Checkmate (शह और मात)

सारे प्रतिद्वंदियों से घिरने के बाद जब राजा को चाल चलने की जगह ना बचे उसे checkmate कहते हैं, उदाहरण के लिए, मान लीजिए की आखरी लाइन के E1 में राजा है, हाथी h2 में में बैठा हुआ है और वज़ीर C1 में है, राजा को अब चलने कि जगह नहीं है क्योंकि उसे वजीर और हाथी ने घेर रखा है।

अगर बादशाह एक खाने ऊपर जाता है तो हाथी शह देगा और तिरछा चलते हुए f2 में जाता है तो भी हाथी मरेगा। अगल-बगल में और d2 में जा नहीं सकता क्योंकि वजीर बैठा है, इसी को हम checkmate कहते हैं।

शतरंज में कैसलिंग

शतरंज में कैसलिंग बादशाह को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है जिसे हिंदी में किलाबंदी कहते हैं। इस प्रक्रिया में हाथी और राजा की अदला-बदली की जाती है।

लेफ्ट साइड castle में राजा अपने स्थान से दो कदम बाएं हाथ की ओर चलता है और हाथी ठीक इसके बगल में दायें दिशा को आकर बैठ जाता है इसे long side castle भी कहते हैं।

एक short castle भी होता है जिसमे राजा दाहिनी तरफ दो स्टेप चलता है और right side वाला हाथी उसके बगल में बगल में आ जाता है।

नोट: लेफ्ट साइड castle में हाथी तीन कदम और राइट साइड वाले में दो खाने चलता है

कैसलिंग के नियम

चेस में castling के कुछ rules भी है जिन्हें हम बिंदुवार बता रहे हैं।

  1. अगर राजा कोई भी चाल पहले चला होगा तो कैसलिंग नहीं होगा।
  2. दोनों के बीच में कोई भी मोहरा मौजूद नहीं होना चाहिए (लाइन एकदम खाली हो)।
  3. बादशाह और हाथी दोनों के चाल के दौरान विरोधी का कोई भी मोहरा अटैक की स्थिति में ना हो।
  4. दोनों हाथियों में से जिसने भी चाल चली होगी तो उस साइड castling नहीं होगा।
  5. अगर राजा पहले चेक हो चूका है तो कैसल नहीं होगा।

Chess की गोटी के नाम In English

इंटरनेशनल स्तर पर चेस की गोटियों को अलग-अलग नामो से पुकारा जाता हैं। परंतु भारत मे ये गोटिया इंग्लिश में निम्नलिखित नाम से प्रसिद्ध हैं।

  • राजा (बादशाह) – King
  • वजीर (मंत्री & सेनापति) – Queen (रानी)
  • हाथी – Rook
  • घोड़ा – Knight
  • ऊँट – Bishop
  • सिपाही (प्यादा) – Pawn
  • शतरंज – Chess
  • मोहरे – Chessmen
  • Castle – राजा और हाथी की अदला बदली (किला, किश्ती)
  • सारी गोटियों के नाम – pieces
  • chess board – शतरंज की बिसात
  • checkmate – शहमात

Chess Rules In Hindi PDF Download

आपकी सुविधा के लिए हम chess के rules का हिंदी language में PDF फाइल उपलब्ध करा रहे हैं जिसे आप download कर सकते हैं. चेस का यह rule PDF फॉर्मेट में पूरी तरह से printable है जिसे आप प्रिंटर की सहायता से मोबाइल से प्रिंट भी निकाल सकते है और कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

शतरंज का अविष्कार और इसिहास

वैसे तो इस खेल को लेकर बहुत सारी किवदन्तियां हैं। कही भी सही जानकारी उपलब्ध नही। लेकिन हम आपको इसकी पूरी कहानी बताएंगे।

भारत मे 7वीं शताब्दी के आसपास शतरंज राजा महाराजा का खेल हुआ करता था। वे इस खेल को युद्ध मे विजय पाने के लिए खेला करते थे। क्योंकि इससे उनको जीत हासिल करने की रणनीति बनाने में मदद मिलती थी।

वैसे इसकी खोज रामायण काल मे ही हो गयी थी। मंदोदरी ने अपने पति रावण के लिए शतरंज को बनाया था। चुकी रावण युद्ध मे विजय पाने के लिए सही रणनीति बनाने में विफल हो रहा था। जिससे उसका क्रोध नियंत्रण से बाहर जाने लगा था। वह हर वक़्त युद्ध के बारे में ही सोचता था।

इसी को देखते हुए मायावी मंदोदरी ने उसके ध्यान को युद्ध से हटाने के लिए उसे चतुरंग खेलने को कहा। इस प्रकार उसे युद्ध का पूरा अहसास उस खेल से होने लगा।

महाभारत काल मे भी चतुरंगा खेल का जिक्र मिलता है। जिसे अष्टापद (एक प्रकार का वर्गाकार बोर्ड) पर राधा और कृष्ण खेला करते थे। बाद में शतरंज 9वीं शताब्दी से 16वीं शताब्दी तक पूरे विश्व मे फैला।

अगर आपको चेस खेलने की जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इस पोस्ट को अपने मित्रों तक जरूर शेयर करें और उनके साथ खेलने का प्रैक्टिस करें। और कुछ जानकारी आपको चाहिए तो निचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

यह भी है काम का जरूर पढ़े

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here