Loan कितने प्रकार के होते हैं In Hindi

India में बहुत सारे बैंक हैं और लगभग सभी bank loan देते हैं, लेकिन क्या आपको पता है loan कितने प्रकार के होते हैं Indian bank में. किसी भी बैंक में अप्लाई करने से पहले आपको types of loan in Hindi में जानना जरूर चाहिए, ऐसा इस लिए क्योंकि हर loan के प्रकार हर किसी के लिए नहीं होता।

भारत में लोन लेना हमारे जिंदगी का हिस्सा है। अगर आप कोई बिज़नेस स्टार्ट करना चाहते हैं तो उसकी के लिए कौन सा लोन बेस्ट रहता है इसकी जानकारी सायद आपको ना हो।

अगर आप घर बनाने का सपना देख रहे हैं तो आपको बता दे की बहुत से बैंक जैसे SBI, HDFC, ICICI बैंक आपके इस सपने को पूरा करने के लिए भी लोन का एक विकल्प दे रखा है ताकि आप आसानी से अपने home के सपने को पूरा कर सके।

आपको बताएँगे की अन्य व्यक्तिगत कार्य जैसे कि शादी, किसी प्रकार का मेडिकल बिल, कहीं पर जाने के खर्च इत्यादि के लिए आपको कौन सा लोन मिलता है। कुल मिला कर आप इस लेख किए माध्यम से जानेंगे कि loan कितने प्रकार के होते हैं।

Bank के माध्यम से लोन लेना बहुत लम्बा प्रोसेस होता है, कई बार तो लोग थक-हार जाते हैं क्योंकि उन्हें लोन मिलने में बहुत ज्यादा टाइम लगता है। ऐसे में एक बहुत ही आसान तरीका है लोन लेने का और वो loan भी Indian बैंक के माध्यम से जल्दी मिल जाता है, उसे लोन की जानकारी भी आपको नीचे में दी जा रही है।

Loan के प्रकार

अगर लोन के प्रकार की बात करें तो इन्हें टाइम फ्रेम के आधार पर तीन भागों में विभाजित किया गया है। बैंक की ओर से दिए जाने वाला पहला प्रकार है short term loan, दूसरा प्रकार है medium term loan और तीसरा है long term loan.

types of loan in Hindi

इन सभी loans का time period अलग-अलग होता है और इनकी श्रेणी (केटेगरी) भी अलग-अलग होती है। इन सभी किस्म के लोन को विस्तार से नीचे पढ़ें।

Short Term Loan क्या होता है

Short term loan वह होता है जो कम समय किए लिए दिया जाता है, इसका टाइम पीरियड शार्ट अर्थात कम समय के लिए होता है। प्रत्येक बैंक का अलग-अलग टाइम फ्रेम होता है।

कुछ बैंक या लोकल लोन प्रदाता कंपनी इस टाइम को 6 महीने से लेकर 1 साल तक का रखते हैं और इसी समय के अंदर आपको लोन के साथ साथ ब्याज की धनराशि वापस करनी होती है। कुछ बैंक शार्ट टर्म लोन की समय सीमा अधिकतम 2 साल तक भी देते हैं।

Medium Term Loan का Time Period कितना होता है

जैसा की इसके नाम से प्रतीत होता है medium टर्म लोन मध्यम समय के लिए दिया जाता है। इस लोन को चुकता करने का समय बैंक से बैंक पर निर्भर करता है। आपको बता दे कि medium term loan में पैसे लौटाने के टाइम पीरियड को 1 साल से लेकर 3 साल तक रखते हैं।

Long Term Loan Meaning In Hindi

Long term loan का meaning होता है लम्बे समय के लिए दिया जाने वाला लोन। आपको बता दें Long term loan India में बहुत ही पॉपुलर होता है ज्यादातर लोग long टर्म लोन के लिए ही बैंक में अप्लाई करते है। अगर टाइम पीरियड की बात करें तो long term में आपको loan 3 साल से लेकर 30 तक के लिए दिया जाता है।

long term लोन की विशेषता यह होती है कि यह लोन लंबे समय के लिए दिया जाता है और इसमें ब्याज दर भी कम लगता है और लोन की धनराशि (Amount) भी अधिक होता है।

long टर्म लोन मुख्यतः home loan, car loan या कुछ विशेष प्रकार के personal लोन के अंतर्गत आते हैं। अर्थात अगर आप अपना घर बनाने की सोच रहे हैं या कार खरीदने की सोच रहे हैं तो लॉन्ग टर्म लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इसके अलावा कुछ बड़े मैन्युफैक्चरिंग बिज़नेस में लगने वाले मशीनरी (मशीन) की खरीद हेतु भी आप long टर्म लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Types Of Loan In Hindi

वैसे तो लोन विभिन्न प्रकार (different types) के होते हैं लेकिन उन सभी लोन को दो कारकों में वर्गीकृत किया गया है पहला होता है सिक्योर्ड लोन और दूसरा है अनसिक्योर्ड लोन।

Secured Loan Meaning In Hindi

जैसा कि इसके नाम से प्रतीत होता है सिक्योर्ड (secured) लोन वो होता है जिसे प्राप्त करने के लिए आपको अपने किसी प्रॉपर्टी को सिक्योरिटी के तौर पर रखा जाता है।

ये प्रॉपर्टी आपका घर, जमीन, चल संपत्ति, अचल संपत्ति, गोल्ड, सिक्योरिटी पेपर जैसे कि डिमांड शेयर, म्यूचुअल फंड, बीमा (insurance) पेपर इत्यादि होते हैं।

अगर आप लोन चुकता नहीं कर पाते हैं तो बैंक आपके इन प्रॉपर्टी को नीलाम करके अर्थात बेच कर अपने पैसों की रिकवरी कर लेता है।

Unsecured Loan Meaning In Hindi

सबसे पहले ये जान लें कि Unsecured लोन के अंतर्गत क्रेडिट कार्ड डेब्ट, पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन, बैंक ओवरड्राफ्ट, बिज़नेस के लिए अनसिक्योर्ड लोन शामिल है।

Unsecured loan का meaning ये है कि इस लोन को प्राप्त करने के लिए आपको सिक्योरिटी के तौर पर कोई भी प्रॉपर्टी को बंधक (गिरवी) नहीं रखना पड़ता।

यही वजह से unsecured लोन में ब्याज दर भी अधिक लगता है, क्योंकि अगर आप लोन की धनराशि वापस नहीं कर पाते तो बैंक के पास आपका कोई भी प्रॉपर्टी नीलाम करने के लिए उपलब्ध नहीं रहता, इसी वजह से अनसिक्योर्ड लोन में बैंक अधिक इंटरेस्ट रेट लेते हैं।

आपको बता दें की Unsecured लोन आपके वेतन के आधार पर तुरंत जारी कर दिया जाता है। चुकी unsecured loan में किसी तरह के प्रॉपर्टी को बंधक या प्रमाण के तौर पर नहीं रखा इस लिए अनसिक्योर्ड लोन को देने से पहले बैंक आपके क्रेडिट स्कोर और पिछले लोन के पैसों की वापसी के रिकॉर्ड को देखता है। अगर सब कुछ अच्छा रहा तो आपको अनसिक्योर्ड लोन दे दिया जाता है।

Gold Loan क्या होता है

साधारण शब्दों में बताये तो सोने को गिरवी रख कर मिलने वाला लोन Gold loan कहलाता है, अर्थात इस प्रकार के लोन को प्राप्त करने के लिए सिक्योरिटी के तौर पर आपके गोल्ड को किसी बैंक के लॉकर में रखा जाता है और उस सोने के मूल्य के अनुसार आपको लोन दे दिया जाता है।

गोल्ड लोन भी सिक्योर्ड लोन के अंतर्गत आता है। Personal loan की तुलना में गोल्ड लोन में कम ब्याज दर लगता है और ये आसानी से मिल भी जाता है।

गोल्ड लोन देने वाली बहुत सी प्रचलित कंपनी मार्केट में मौजूद हैं जैसे कि Rupeek gold loans, Muthoot finance, Manappuram फाइनेंस लिमिटेड व अन्य बैंक जैसे कि State Bank Of India, HDFC बैंक, आईसीआईसीआई बैंक इत्यादि।

Home Loan क्या है

Home loan भी लोन का एक प्रकार है। घर के निर्माण, नए घर को खरीदना हो, जमीन खरीद हेतु, घर के मरम्मत हेतु, गृह विस्तार हेतु लिए जाने वाले लोन को home loan कहा जाता है।

इसके अतिरिक्त होम लोन के अंतर्गत Joint Home Loan, Home loan balance transfer, top up home loan इत्यादि आते हैं।

Personal Loan क्या होता है In Hindi

व्यक्तिगत कार्य के लिए लिए जाने वाले लोन को Personal Loan कहते हैं। ये व्यक्तिगत कार्य आपके शादी का खर्च, कहीं जाने के लिए लगने वाला खर्च, शिक्षा (education) के दौरान आने वाला खर्च, किसी प्रकार का मेडिकल खर्च इत्यादि व्यक्तिगत कार्य हो सकते हैं।

अन्य प्रकार के लोन

अन्य प्रकार के भी लोन भारतीय बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा दिया जाता है और उनके नाम निम्नलिखित है।

  • कार लोन
  • Fixed Deposit loan
  • वाहन (Vehicle) Loan
  • Flexi लोन
  • Loan Against Property (LAP)
  • Working Capital Loans
  • Traders Loan
  • मैन्युफैक्चरिंग के लिए लोन
  • MSMEs के लिए स्माल बिज़नेस लोन
  • महिला उद्यमी के लिए लोन (Women Entrepreneur Loan)

निष्कर्ष –

इस लेख के माध्यम से आपने जाना कि लोन कितने प्रकार के होते हैं। इस लेख के माध्यम से हमने types of loan in Hindi में बताने का पूरी कोशिश की है। लोन के बहुत से प्रकार होते हैं और ये समय के साथ बदलते रहते हैं। अगर इसके अतिरिक्त आपको कुछ और जानना है तो आप नीचे में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Previous articleGold Loan क्या होता है और गोल्ड लोन कैसे ले
प्रोफेशन से मैं ब्लॉगर हूँ। मुझे नई टेक्नोलॉजी, इंटरनेट, कम्यूटर पर रिसर्च करना और इस ब्लॉग के माध्यम से उन जानकारियों को आप लोगों तक शेयर करने में मुझे ख़ुशी मिलती है। इसके अलावा मैं बैनर, कवर आर्ट भी बनाना जानता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here